व्हाट्सएप ने रोका प्राइवेसी अपडेट का प्लान |


लोगों की नाराजगी देख व्हाट्सएप ने रोका प्राइवेसी अपडेट का प्लान

लोगों की नाराजगी देख व्हाट्सएप ने रोका प्राइवेसी अपडेट का प्लान

व्हाट्सएप यूजर्स के लिए राहत भरी खबर अब किसी का अकाउंट 8 फरवरी को बंद नहीं होगा कंपनी ने विवादित प्राइवेसी अपडेट रोका | मेसेजिंग ऐप व्हाट्सएप ने लोगों की चिंताओं को देखते हुए अपना प्राइवेसी अपडेट करने का प्लान रोक दिया है। इससे पहले कहा गया था कि जो लोग उसके अपडेट को स्वीकार नहीं करेंगे, उन्हें 8 फरवरी के बाद सर्विस मिलना बंद हो सकता है। नई पॉलिसी में फेसबुक और इंस्टाग्राम का इंटीग्रेशन ज्यादा था जिसकी वजह से यूजर्स का व्हाट्सऐप डेटा फेसबुक से भी शेयर किया जाता। 

व्हाट्सऐप पर फेसबुक का पूरा स्वामित्व है। व्हाट्सऐप की इस निजता नीति से परेशान होकर यूजर्स उसकी प्रतिद्वंद्वी ऐप्ल टेलीग्राम और सिग्नल पर शिफ्ट हो रहे थे। नई शर्तों और नीति को स्वीकार करने के लिए तय 8 फरवरी की अंतिम तारीख को व्हॉट्सएप ने फिलहाल टाल दिया है। व्हाट्सऐप ने कहा है कि वह प्राइवेसी और सुरक्षा को लेकर यूजर्स के बीच फैली भ्रामक जानकारियों को दूर करेगा।

व्हाट्सएप के द्वारा दी गयी अपडेट कुछ इस प्रकार हैं –

आपकी प्राइवेसी और सुरक्षा हमारे लिए सबसे बढ़कर है

हमने WhatsApp को शुरू से ही इस तरह तैयार किया है ताकि आप अपने दोस्तों के साथ कनेक्टेड रह सकें, किसी प्राकृतिक आपदा के समय अपनों के साथ ज़रूरी अपडेट्स शेयर कर सकें, परिवार से दूर रहकर भी उनके करीब रह सकें या बेहतर ज़िंदगी की तलाश कर सकें. आप WhatsApp पर पर्सनल मैसेजेस, फ़ोटो आदि शेयर करते हैं इसलिए हम आपके लिए ऐप में ‘एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन’ फ़ीचर लाए हैं. एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन होने से आपके मैसेज, फ़ोटो, वीडियो, वॉइस मैसेज, डॉक्यूमेंट, स्टेटस और कॉल्स सुरक्षित हो जाते हैं और कोई उनका गलत इस्तेमाल नहीं कर सकता है.

पर्सनल मैसेजिंग

WhatsApp Messenger से की जाने वाली चैट्स एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन से सुरक्षित होती हैं. आपके मैसेजेस और कॉल्स सिर्फ़ आपके और जिनसे आप चैट कर रहे हैं सिर्फ़ उन्हीं के बीच रहते हैं. कोई भी दूसरा व्यक्ति उन्हें पढ़ या सुन नहीं सकता है, WhatsApp भी नहीं. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन के होने से आपके मैसेजेस पर डिजिटल लॉक लग जाता है और उस लॉक को खोलने की डिजिटल चाबी सिर्फ़ आपके और जिन्हें मैसेज मिला है उन्हीं के पास होती है. यह लॉक और उसकी चाबी यूज़र को दिखती नहीं है, यह सब ऑटोमैटिकली होता है. अपने मैसेजेस को सुरक्षित रखने के लिए आपको कोई स्पेशल सेटिंग ऑन नहीं करनी या अलग से कोई सीक्रेट चैट सेट करने की ज़रूरत नहीं है.

पेमेंट

कुछ देशों में WhatsApp पर पेमेंट फ़ीचर उपलब्ध है. इस फ़ीचर का इस्तेमाल करके एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में पैसे ट्रांसफ़र किए जा सकते हैं. कार्ड और बैंक नंबर को एन्क्रिप्ट करके बहुत ही सुरक्षित नेटवर्क पर स्टोर किया जाता है. बैंक को ट्रांज़ेक्शन प्रोसेस करने के लिए इन पेमेंट से जुड़ी जानकारी की ज़रूरत होती है इसलिए ये पेमेंट एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड नहीं होती हैं.

आप अपनी प्राइवेसी को कंट्रोल कर सकते हैं

WhatsApp चाहता है कि आपको पता हो कि आपके मैसेज के साथ क्या होता है. अगर आप किसी व्यक्ति या बिज़नेस से मैसेज पाना नहीं चाहते हैं, तो आप उन्हें सीधे चैट में जाकर ब्लॉक कर सकते हैं या अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट से उन्हें मिटा सकते हैं. हम चाहते हैं कि आपको पता हो कि आपके मैसेज कैसे मैनेज किए जा रहे हैं ताकि आप अपने लिए सही फ़ैसला ले सकें.

इन्हें भी पढ़े :-